Durga Saptashati PDF | दुर्गा सप्तशती पाठ

1

क्या आप Durga Saptashati PDF (दुर्गा सप्तशती पाठ) Download करना चाहते है अपने मोबाइल में तो आप सही जगह पर आए हो। किउंकि में आपको बताने वाला हूँ Durga Saptashati in Hindi PDF से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी के बारे में।

दुर्गा सप्तशती PDF Download करने का लिंक निचे की तरफ आपको मिल जायेगा।

श्री दुर्गा सप्तशती पाठ 700 श्लोकों को एकत्रित करके बनाया गया है। यह एक देवी उपासना ग्रंथ है जिसको पाठ करने से सभी प्रकार दुःख, दर्द और परेशानिया दूर हो जाती है। श्री दुर्गाजीका दूसरा नाम चंडी भी कहा जाता है।

Durga Saptashati PDF
Durga Saptashati PDF

Durga Saptashati PDF | दुर्गा सप्तशती पाठ

मार्कडेय पुराण में इस देवी चंडी के बारे में बताया गया है। उस ग्रंथ में देवी का बिभिन्न रूप और पराक्रमों के बारे में बिस्तर से समझाया गया है।

इसमें 700 श्लोकों को एकत्रित करके देवी उपासना के लिए श्री दुर्गासप्तशती नामके ग्रंथ बनाया गया है। इसमें जय, सुख और लाभ इन सब कामनाओं के लिए दुर्गा सप्तशती पाठ करने का महत्ब बताया गया है।

दुर्गा सप्तशती का पाठ बिशेष रूप से शारोदियो नबरात्रि में किया जाता है। घरों में प[आठ करने का परंम्परा है और इसको पाठ करने का हवन भी किया जाता है। और इस बिधान को कहा जाता है चंडी बिधान

लोग नबरात्रि के नौ दिनों में एक एक चंडी पाठ करते है। दुर्गा सप्तशती पाठ के समय फूल आरती अर्पित करते है।

इसे भी पढ़े

दुर्गा सप्तशती पाठ करने का बिधि

दुर्गा सप्तशती में मार्कडेय द्वारा बताया गया है की कैसे साधक नबरात्रि के शुरुआत से लेकर अंत तक संपूर्ण पथ कर सकते है।

  • लाल साफ कपड़े बिछाकर ग्रन्थ को रखे।
  • पाठ करने से पहले माता को लाल टिका होना चाहिए इसका ध्यान रखना है।
  • इसको पाठ कारने से पहले ग्रंथ को नमस्कार करे।
  • पानी से आचमन करे।
  • अगर आप दुर्गा सप्तशती के रेगुलर पाठक नहीं है तो आपको शुरू से पहले संकल्प जरूर करे और संकल्प मंत्र भी आपको Durga Saptashati PDF में मिल जायेगा।
  • इसको पाठ करने से पहले बिश्वास रखे की माता आपके सामने बैठे है औरआपका मंत्रोचारण सुन रहे है।
  • सप्तशती में बताया गया है की दुर्गा कबच,दुर्गा कीलकम देवी आर्गोला स्तोत्र के पाठ के बाद दुर्गा सप्तशती पाठ करने का बिधान है।
  • हर रोज पाठ करने के बाद माँ दुर्गा की आरती करना होगा।

दुर्गा सप्तशती पाठ के 5 मुख्य नियम

इस शक्तिशाली पाठ की साधना करने से पहले इसकी नियमो का पालन करना बहोत जरुरी होजाता है ताकि साधक बिना किसी भूल किये पाठ का सम्पूर्ण लाभ प्राप्त कर सके।

इसको पाठ करने के लिए 5 नियम है जिसको पालन करना जरूर चाहिए साधक को।

  1. इसको पाठ करते समय इस ग्रन्थ को हाथ में नहीं रखना चाहिए। ग्रंथ को साधक का सामने कसी अच्छी जगह पर लाल रंग का एक साफ कपड़ा बिछाकर उसके ऊपर रखना चाहिए।
  2. दुर्गा सप्तशती पाठ करते वक़्त अध्याय के बीच में उठना नहीं चाहिए अगर बहुत जरुरी न हो तो। अगर उठ गए तो उस अध्याय को पहले से पड़े तभी जाकर यह पूर्ण मन जाता है।
  3. इसको पढ़ते वक़्त इसका अर्थ जरूर पता होना चाहिए। अगर आपको इसका अर्थ नहीं पता है तो इस पाठ का पूर्ण लाभ नहीं मिलता है।
  4. दुर्गा सप्तशती का हर एक शब्द को प्रेम से और स्पष्टता के साथ धीरे से पढ़ना चाहिए। और इसको पाठ करने समय कोई जल्दबाजी न करे।
  5. अध्याय का अंत में माता से प्रार्थना करना चाहिए की बो प्रसन्न होकर आपकी मनोकामना को पूर्ण करे। माता में बिसवास रखते हुए मन में समपर्ण भाब रखकर माता को मनोकामना पूर्ण करने के लिए धन्यवाद करे।

दुर्गासप्तशती पाठ PDF करने के परिणाम

  • ब्यक्ति में उसका बोलय निर्माण होता है।
  • इसको पाठ करने वाले का ऊपर ईश्वरियतत्ब का प्रबाह आकृष्ट होता है।
  • संस्कृतशब्दो के कारन चैतन्य का प्रबाह इस ग्रन्थ में आकृष्ट होता है।
  • मारक शक्ति का प्रवाह आकृष्ट होता है श्री दुर्गासप्तशती ग्रंथ में।
  • पाताल की आसुरी शक्तियों द्वारा व्यक्ति के बॉडी पर काली शक्ति का आवरण बॉडी में रखी काली शक्ति नष्ट होते हैं।
  • इस ग्रंथ को पाठ करने से ब्यक्ति के बॉडी के चारों और सुरक्षा कबच निर्माण होता है।

दुर्गा कवच पाठ के लाभ

इस ग्रंथ को पाठ करने से होने वाला लाभ अनगिनत होता है। फिरभी कुछ लाभ इस प्रकार के होते है।

  • इसको पाठ करने के बाद पाठक को इसका लाभ बहोत जल्द मिलना शुरू होजाता है।
  • पाठक को बुरी आत्माओ के शक्तियों को नष्ट करके बचती है।
  • पाठक के इच्छाओं को जीबन में फलीभूत करने की ताकत बढ़ाती है।
  • इसको एक ब्यक्ति पाठ करने से उनके परिबार के सभी को पाठ का लाभ मिलता है।
  • दुर्गा सप्तशती पाठ करने वालो के चारो और एक शक्तिशैली सुरक्षा कबच बन जाता है।
  • पाठक का मन से चिंता दूर करके मन को एकाग्र करता है।
  • इस ग्रंथ को पाठ करने से पाठक का बुद्धिमता बढ़ती है और सांसारिक जीबन में सफलता और सौभाग्य का साथ मिलता है।
  • पाठक का दरिद्रता कम होती है।
  • इसको पाठ करने से साधक के जीबन में रोजगार के नए रास्ते खुलते है।

प्रश्न-उत्तार दुर्गा सप्तशती

प्रश्न: दुर्गा सप्तशती कैसे पढ़े?

दुर्गा सप्तशती पाठ करने से पहले ग्रंथ को लाल कपड़े के ऊपर रखिये और फिर उसपर फूल चढ़ाये। पूजा करने के बाद ही इसको पढ़े।

प्रश्न: दुर्गा सप्तशती पाठ कब करना चाहिए?

दुर्गा सप्तशती का पाठ हर रोज घरों में किया जा सकता है लेकिन नबरात्रा में इसको पाठ करने से जायदा लाभ मिलता है। नबरात्र के दिनों में 9 दिन पूजा करने के बाद इसका पाठ करते है।

प्रश्न: दुर्गा सप्तशती का पाठ करने से क्या होता है?

इसको पाठ करने से पाठक का चिंता मुक्त होता है मनमे शांति प्राप्त करता है। सांसारिक जीबन में सफलता मिलती है और दरिद्रता कम होता है साथ में और भी बहोत सारे लाभ मिलता है पढ़ने वालो को।

प्रश्न: दुर्गा सप्तशती के कितने अध्याय होते हैं?

दुर्गा सप्तशती में कुल 13 अध्याय होते है।

प्रश्न: दुर्गा पाठ कितने दिन में खत्म करना चाहिए?

दुर्गा पाठ अगर आप 7 दिनों में ख़त्म करते है तो यह सबसे सही रहेगा ज्यादातर लोग 7 दिनों में ही ख़त्म करते है।

प्रश्न: दुर्गा सप्तशती का कौन सा अध्याय पढ़ना चाहिए?

12बा अध्याय पढ़ना चाहिए दुर्गा सप्तशती PDF का किउंकि इससे आपका रोग मुक्ति करता है और आपका सम्मान का प्राप्त करता है।

Durga Saptashati Path PDF Download

फ़ाइनल पॉइंट

मैंने इस लेख में आपके लिए Durga Saptashati PDF लाया हूँ ताकि आप इससे आसानी से अपने मोबाइल से इसको पाठ कर सके। आशा करता हूँ की मेरी इस लेख को पढ़ने के बाद आपको और कोई दूसरी आर्टिकल पढ़ने की कोई जरुरत नहीं पड़ेगी।

इस लेख में मैंने बिधि से लेकर पढ़ने तक और उसका अंत से लेकर परिणाम तक के बारे में बताया है। में आशा करता हूँ मेरी यह लेख आपको पसंद आयी होगी। अगर आपको इससे जुड़े कोई सवाल है या मुझसे कोई गलती होगयी है या कुछ और भी ऐड करना है तो प्लीज कमेंट में मुझे बताइये।

मेरी वेबसाइट sarkarinaukriall को विजिट करे।

Read More

Thoko 5 Star
मेरा नाम इजाज है और में sarkarinaukriall.com का फाउंडर हूँ। में इस वेबसाइट में जिले, ब्लॉक और तहसील के बारे में इनफार्मेशन शेयर करता हूँ। में ब्लॉगिंग 10 साल से भी ज्यादा टाइम से करता हूँ। मुझे बहोत अच्छा लगता है लोगो के साथ इनफार्मेशन शेयर करने में।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here